CENT - TRADE

1.पात्रता  सभी प्रकार के व्यापारी जिनमें खुदरा विक्रेता / वितरक / कमीशन एजेंट / आढ़तिया / प्रमुख कंपनियों के डीलर आदि शामिल हैं।
2.वित्त की मात्रा  प्रति उधारकर्ता अधिकतम रु. 500.00 /- 
3.आंकलन का तरीका  लिमिट का आंकलन टर्नओवर पद्धति के आधार पर, यथा; अनुमानित वार्षिक विक्री का 20%. टर्नओवर लिमिट 12 माह की अवधि के लिए होगी तथा प्रति वर्ष नवीकृत / पुनार्विलोकित होगी . 
4.वित्त की प्रकृति 

सामान्यतः ओवरड्राफ्ट. तथापि, उधारकर्ता के अनुरोध पर, उधारकर्ता की चुकौती  क्षमता और नकदी प्रवाह के आधार पर सावधि ऋण देने पर विचार किया जा सकता है

5.प्रतिभूति

आवासीय घर/फ्लैट, वाणिज्यिक या औद्योगिक संपत्ति, गैर-कृषि सीमाबद्ध और उधारकर्ता के नाम पर या कब्जे में अच्छी तरह से सीमांकित भूखंड का  साम्यिक बंधक (बैंक को एकमात्र प्रभार के तहत)।

20.00 लाख रुपये तक के ऋण के लिए संपत्ति का बाजार मूल्य ऋण राशि का कम से कम 150% और वसूली योग्य राशि ऋण राशि का न्यूनतम 120% होना चाहिए।

20.00 लाख रुपये से अधिक के ऋण के लिए, संपत्ति का बाजार मूल्य लिमिट का कम से कम 200% और वसूली योग्य राशि न्यूनतम 150% होना चाहिए।

व्यक्ति विशेष को, स्वामित्व और साझेदारी के कंपनी  को वित्तपोषण के लिए पति/पत्नी/रक्त सम्बन्ध से जुड़े के नाम की संपत्ति को प्रतिभूति के रूप में लिया जा सकता है बशर्ते कि वे सह-उधारकर्ता या गारंटर के रूप में शामिल हों | 
कंपनी या उसके निदेशक के नाम की  संपत्ति को, संपत्ति के मालिक / निदेशक की व्यक्तिगत गारंटी को कंपनी को वित्तपोषण के लिए प्रतिभूति के रूप में स्वीकार किया जा सकता है।

किसी भी ऋण राशि पर संपत्ति के बदले तरल प्रतिभूति को निम्न रूप में स्वीकार किया जा सकता है : 

i.ऋण राशि के 125% (अर्थात मार्जिन 20%) की सीमा तक अर्जित मूल्य (ब्याज सहित) की एनएससी
ii. ऋण राशि के 112% (मार्जिन 10%) तक के एल.आई.पी. के समर्पण मूल्य  / अर्जित ब्याज सहित बैंक का सावधि जमा । 
iii बैंक की ऋण नीति के अनुसार प्रतिभूतियां अर्थात ऋण राशि (25% का मार्जिन) के न्यूनतम 133 प्रतिशत की सीमा तक के सरकार/बैंकों द्वारा जारी बांडों को  स्वीकार किया जा सकता है।
उपरोक्त के अनुसार अचल संपत्ति के लिए लागू नामों में उपरोक्त लिक्विड सिक्योरिटी हो सकती है। प्रस्तावित प्रतिभूति उपरोक्त के अनुसार अचल संपत्ति और/या कोई/ मार्जिन के साथ तरल प्रतिभूति से अधिक का संयोजन भी हो सकती है।

6.बीमा  सम्पत्ति आग, दंगे से होने वाले नुकसान से बचने हेतु, जहाँ कहीं भी लागू हो, तथा अन्य आपदा जैसे कि भूकम्प, बाढ़, बिजली आदी से बचने हेतु, स्टॉक के बीमा / ब्यापार के स्टॉक के पूर्ण मूल्य के सम्पत्ति बीमा होने के बैंक के वकल्पिक उपबंध  के तहत बीमाकृत होगी । 
7.ब्याज की दर  एम.सी.एल.आर. + 3.00% (10.25+3.00=13.25%) 
8.प्रसंस्करण शुल्क - रु. 25,000/- तक : रु. 100 प्रति प्रस्ताव   
 > रु. 25,000/- से रु. 2 लाख : रु. 300/- प्रति प्रस्ताव –
> रु.2 लाख : लिमिट का 0.5% (सावधि ऋण हेतु अधिकतम रु.50,000/- तथा स्वीकृत होते समय ओवरर्ड्रॉफ्ट के लिये –रु.20,000/-). नवीकरण शुल्क @ लिमिट का 0.10%., अधिकतम रु.5000/-,
9.अपेक्षित दस्तावेज / फार्म का विवरण  i) आवेदन प्रारूप 
ii) रु. 10,000 या से अधिक के लिमिट होने पर वित्तीय स्टेटमेंट जमा किया जाये . 
iii) सेल्स टैक्स / वैट / किसी अन्य टैक्स पंजीकरण की प्रति 
iv) सेल्स टैक्स / वैट रिटर्न की प्रति (पीछले चार तिमाहीं के मूल्यांकन आदेश ) 
v) वर्तमान मूल्यांकन के साथ प्रतिभूति के रूप में प्रस्तावित सम्पत्ति का विवरण 
vi) पिछले तीन वर्षों का आयकर रिटर्न 
vii) सम्पत्ति तथा अन्य प्रतिभूतियों का विवरण