CentralBank of India-Payments
Central Bank Logo

आईएमपीएस

तत्काल भुगतान सेवा (आईएमपीएस)

आईएमपीएस द्वारा मोबाइल फोन के माध्यम से तत्काल एवं 24X7 अंतर इलैक्ट्रॉनिक निधि अंतरण सेवा प्रदान की जाती है. आईएमपीएस एक ऐसा प्रभावी टूल है जिसमें मोबाइल, इंटरनेट एवं एटीएम के माध्यम से देशभर में बैंकों के भीतर तत्काल निधि अंतरण किया जा सकता है जो न केवल सुरक्षित है बल्कि वित्तीय एवं गैर-वित्तीय परिप्रेक्ष्य में किफायती भी है.
तत्काल भुगतान सेवा पब्लिक (आईएमपीएस), दिनांक 22 नवम्बर, 2010 भारिबै की उप गवर्नर, श्रीमती श्यामला गोपीनाथ द्वारा मुम्बई में को सार्वजनिक किया गया था एवं यह सेवा अब भारतीय जनता के लिए उपलब्ध है. .

आईएमपीएस के उद्देश्य

  • बैंक ग्राहकों को अपने मोबाइल फोन का उपयोग एक चैनल के तौर पर कर अपने खातों तक पहुंच बनाने एवं निधि अंतरण उपयोग करने के लिए समर्थ बनाना
  • लाभार्थी के सिर्फ मोबाइल नंबर से ही भुगतान किसे जाने को आसान बनाना
  • रिटेल भुगतानों के इलैक्ट्रॉनिफिकेशन में भारतीय रिजर्व बैंक (भारिबै) के उद्देश्य को पूरा करने में सहायकत
  • सभी बैंकों में सुरक्षित एवं विश्वस्त तरीके से अंतर-परिचालित भारतीय रिजर्व बैंक मोबाइल भुगतान दिशानिर्देश 2008 के साथ भारत में पूर्व में ही मौजूद मोबाइल भुगतान प्रणाली को सहायक बनाना
  • मोबाइल आधारित बैंकिंग सेवाओं की सम्पूर्ण श्रेणी के लिए एक आधार बनाना.

आईएमपीएस निधि अंतरण की मुख्य विशेषताएं निम्नलिखित हैं:

  • तत्काल निधि अंतरण
  • शाखा चैनल के अतिरिक्त 24*7*365 की उपलब्धता जो बैंक कार्य दिवस पर कार्य अवधि के दौरान उपलब्ध है.
  • प्रेषक एवं प्राप्तकर्ता को जमा एवं निकासी का पुष्टिकरण.
  • उपयोग करने के लिए सरल एवं आसान
  • शीघ्रगामी, सस्ता, सुरक्षित एवं सुगम

आईएमपीएस के लिए सहभागी निम्न हैं:

  • धनप्रेषक (प्रेषक)
  • लाभार्थी (प्राप्तकर्ता)
  • बैंक
  • नेशनल फाइनेंसियल स्विच-एनपीसीआई

आईएमपीस के लिए पूर्व-आवश्यकताएं

धनप्रेषक के लिए पंजीकरण:

  • बैंक की मोबाइल बैंकिंग सेवाओं के साथ स्वयं को पंजीकृत करें.
  • बैंक से मोबाइल आइडेंटिफायर (एमएमआईडी) एवं एमपिन प्राप्त करना
  • मोबाइल बैंकिंग (एप्लिकेशन के साथ अनुकूल सुनिश्चित करना) के लिए डाउनलोड सॉफ्टवेयर (एप्लिकेशन) अथवा यदि आपकी बैंक एसएमएस पर आईएमपीएस उपलब्ध कराती है तो अपने मोबाइल में एसएमएस सुविधा उपयोग करना

लाभार्थी के लिए पंजीकरण:

  • संबंधित बैंक में खाते से अपने मोबाइल नंबर को लिंक करना.
  • बैंक से मोबाइल मनी आईडेंटिफायर (एमएमआईडी) प्राप्त करना

निधि अंतरण/धनप्रेषण

  • मोबाइल नंबर एवं एमएमआईडी(पी2पी) उपयोग करना
  • खाता संख्या एवं आईएफसी कोड (पी2पी) उपयोग करना
  • आधार नंबर (एबीआरएस) उपयोग करना

मोबाइल नंबर एवं एमएमआईडी (पी2पी) उपयोग करना

आईएमपीएस पर्सन टू पर्सन, पर्सन टू अकाउंट एवं मोबाइल, इंटरनेट और एटीएम के माध्यम से व्यापारी को तत्काल 24*7 अंतर इलैक्ट्रॉनिक निधि अंतरण सेवा प्रसंस्करण के लिए समर्थ बनाना. यह बहुविद चैनल और बहुविद आयाम प्लेटफॉर्म है जो एक उत्कृष्ट योग्य लेनदेनों के लिए आवश्यक सुरक्षा हेतु सभी मानकों एवं ईमानदारी रखने के साथ सेकिंडों के अंदर भुगतान को समर्थ बनाना है.

प्रेषक एवं प्राप्तिकर्ता

- मोबाइल बैंकिग के लिए कैसे पंजीकरण करें तथा “एमएमआईडी” के नाम से एक अदुभुत आईडी प्राप्त करना
  • एमएमआईडी का जनरेशन एकबारगी प्रक्रिया है.
  • लाभार्थी के मोबाइल नं. एवं 7 डिजिट एमएमआईडी का उपयोग कर लाभार्थी को धनप्रेषक (प्रेषक) द्वारा निधि का अंतरण.

अतिरिक्त सूचनाएं:


एमएमआईडी – मोबाइल मनी आईडेंटिफायर (7 डिजिट कोड)
प्रत्येक एमएमआईडी अदुभुत मोबाइल नंबर से लिंक है. एक ही मोबाइल नंबर से कई एमएमआईडी लिंक किए जा सकते हैं.

खाता नंबर एवं आईएफएस कोड (पी2पी) का उपयोग

वर्तमान में, आईएमपीएस लाभार्थी मोबाइल नंबर एवं एमएमआईडी का उपयोग करते हु पर्सन टू पर्सन (पी2पी) निधि अंतरण धनप्रेषक ग्राहक का निधि अंतरण करना है. लाभार्थी के साथ-साथ दोनों धनप्रेषक अपने संबंधित बैंक खाता के साथ अपने मोबाइल नंबर पंजीकरण कराना आवश्यक है और एमएमआईडी करता है, आईएमपीएस का उपयोग करते हुए निधि प्रेषित करना अथवा प्राप्त करना.

ऐसे कई मामले हो सकते हैं जहां धनप्रेषक ने मोबाइल बैंकिंग को समर्थ किया है, परंतु लाभार्थी मोबाइल नंबर किसी बैंक खाता के साथ पंजीकृत नहीं है. ऐसे मामलों में, धनप्रेषक मोबाइल नंबर एवं एमएमआईडी का उपयोग करते हुए लाभार्थी को धनराशि भेजने के लिए समर्थ नहीं होगा.

इसलिए बैंकिंग समुदाय से प्राप्त प्रतिक्रियाओं की गुणवत्ता के साथ-साथ उपर्युक्त वर्णित अपेक्षाओं की पूर्ति हेतु, लाभार्थी मोबाइल नंबर एवं एमएमआईडी के अतिरिक्त लाभार्थी मोबाइल नंबर एवं आईएफएस कोड आईएमपीएस निधि अंतरण समर्थ बनाना.

अतिरिक्त सूचनाएं:


आईएफसी कोड - 11 डिजिट वर्णानुक्रमिक नंबर, चेकबुक उपयोगकर्ता में उपलब्ध.
आधार नंबर उपयोग (एबीआरएस)

एबीआरएस में, एक धनप्रेषक लाभार्थी का आधार नंबर का उपयोग करते हुए आईएमपीएस लेनदेन आरंभ कर सकता है, जो एक वित्तीय पते के रूप में कार्य करत है एवं जो लाभार्थी खाता संख्या से जुड़ेगा. आईएमपीएस भुगतान प्रस्तुति प्रक्रिया के सरलीकरण में एबीआरएस सहायक होगा क्योंकि इस सेवा में ग्राहक एक आईएमपीएस लेनदेन आरंभ करने के लिए लाभार्थी का केवल आधार नंबर डालना पड़ेगा. इस सेवा की दूसरी महत्वपूर्ण व्यवहार्यता अनुदान भुगतान का संवितरण करना है अर्थात, सरकार द्वारा इलैक्ट्रॉनिक बेनिफिट ट्रांसफर (ईबीटी)/ प्रत्यक्ष लाभ अंतरण (डीबीटी). एबीआरएस वित्तीय समावेशन पहुंच विस्तार करने में उत्प्रेरक के तौर पर कार्य करेगा..

आधार मैपर (क्यूएसईम) पर पूछ्ताछ सेवा


एबीआरएस के प्रभावी कार्यान्वयन को सुगम बनाने, *99#) सेवा पर विद्यमान एनयूयू (*99# यूएसएसडी आधारित एक नई विशिष्टता जोड़ी गई है. इस नई सेवा के अंतर्गत, “आधार मैपर” पर पूछताछ सेवा” के नाम से पहचानी जाने वाली है ग्रहक जानने के लिए समर्थ होगा : -
  • क्या उसका आधार नंबर किसी भी बैंक खाता संख्या से लिंक जुड़ा है अथवा नहीं?
  • यदि हां, तब किस बैंक के साथ और यह कब अंतिम बार अद्यतन किया गया

**याद रखने के लिए मुख्य


मोबाइल उपयोग करते हुए लेनदेन शुरू करने के लिए, मोबाइल नंबर एवं एमपिन का उपयोग करते हुए लेनदेनों को प्राधिकृत होंगे.
वर्तमान में, हमारा बैंक निधि अंतरण के अंतर्गत निम्नलिखित उत्पाद प्रस्तुत कर रहा है –
  1. पर्सन - टू - पर्सन (पी2पी)
  2. पर्सन – टू - एकाउंट (पी2ए)

आईएमपीएस निधि अंतरण के लिए डिलीवरी चैनल.

आईएमपीएस निधि अंतरण के लिए निम्नलिखित डिलीवरी चैनल समर्थ बनाये गये हैं –
  1. एसएमएस चैनल .
  2. इंटरनेट बैंकिंग.
  3. मोबाइल बैंकिंग.

निधि अंतरण सीमा – विद्यमान सीमाएं निम्नानुसार लागू रहेंगी -

क्र.सं. विवरण राशि(रुपयों में)
1. अधिकतम राशि प्रति लेनदेन 1,00,000/-
2. अधिकतम राशि प्रतिदिन 2,00,000/-
3. प्रतिदिन लेनदेनों की संख्या कोई सीमा नहीं.
 
बैंक मोबाइल बैंकिंग के लिए पंजीकरण कैसे करें ? एमएमआईडी कैसे प्राप्त करें ?
सेन्ट्रल बैंक एसएमएस (SMS) बैंकिंग (मोबाइल) एप्लीकेशन के पंजीकरण के लिए कृपया मूल शाखा में एसएमएस बैंकिंग पंजीकरण फॉर्म प्रस्तुत करें. इसके पश्चात 7-8 दिन के उपरांत शाखा से एमपिन (MPIN) प्राप्त करें और इसे बदल दें.

एमएमआईडी (MMID) मोबाइल बैंकिंग आवेदन का उपयोग कर जनरेट किया जा सकता है या <MMID> to 9967533228 को एसएमएस करें.
बैंक से प्रति उत्तर: खाता सं. XXXXXX1234 के लिए आबंटित आपका एमएमआईडी (MMID) 987654 है. मोबाइल बैंकिंग में आईएमपीएस विकल्प के माध्यम से धनराशि भेज एवं प्राप्त कर सकते हैं.

 
क्र.सं. विवरण कोड
6a आईएमपीएस के लिए एमएमआईडी जनरेट करें एमएमआईडी
6b आईएमपीएस के माध्यम से धनराशि भेजें आईएमपीएस<लाभार्थी का एमएमआईडी<राशि> <एमपिन>
     
आईएमपीएस कैसे करें (एसएमएस प्रारूप)
<एमएमआईडी>  to 9967533228
उदाहरण: आईएमपीएस 9988771234 987654 100 1234

पृष्ठ निर्माण के तहत

पृष्ठ निर्माण के तहत

(c) 2016 Central Bank of India. All rights reserved
आपकी आगंतुक संख्या हैं : 220440