Personal Loan
Central Bank Logo

व्यवसाय

'सेन्‍ट्रलाइट' के प्रति संस्‍थागत दृष्टिकोण

'टीम सेन्‍ट्रल बैंक' को प्रतिबिम्बित करते भावपूर्ण नाम 'सेन्‍ट्रलाइट' की निम्‍नलिखित व्‍याख्‍या अपने 'कर्मचारियों (People)' के प्रति बैंक-प्रबंधन के दर्शन की सच्‍ची तस्‍वीर प्रकट करती है :

कार्पोरेट मिशन:

सी - नियत कार्यो के प्रति दायित्‍व भाव का निर्माण

ई - "अत्‍यधिक पसंदीदा नियोक्‍ता" की संस्‍कृति इंगित करता कर्मचारी नियोजन

एन - व्‍यवसाय एवं लोगों के प्रति गैर-पारंपरिक दृष्टिकोण

टी - टीम निर्माण मे विश्‍वास

आर - कर्मचारी का सम्‍मान

ए - परिवर्तन का अभिकर्ता

एल - ज्ञानार्जन संगठन

आई - श्रेष्‍ठ कार्य-निष्‍पादन के लिए प्रोत्‍साहन

टी - रूपांतरकारी नेतृत्‍व

ई - निष्‍पक्ष एवं समानता का व्‍यवहार

    उपर्युक्‍त आदर्श कथनों के लिए अपनाया गया दर्शन निम्‍नवत है :

    सी - नियत कार्यो के प्रति दायित्‍व भाव का निर्माण:

    हमारा लक्ष्‍य कर्मचारियों का इस प्रकार समंजन एवं सशक्तिकरण करना है कि वे सतत रूप से समुचित ग्राहक अनुभव प्रदान कर सकें. इन प्रक्रियाओं में आंतरिक सम्‍प्रेषण, प्रशिक्षण सहायता, नेतृत्‍व प्रथाएं, पुरस्‍कार एवं सम्‍मान कार्यक्रम, भर्ती पद्धति एवं उन्‍हें कायम रखने के तत्‍वों के अलावा और भी कई घटक शामिल हैं. इन सभी प्रयासों का लक्ष्‍य, सौंपे गये कार्य के प्रति कर्मचारियों में निर्णय-क्षमता का सृजन करना है.

    ई - "अत्‍यधिक पसंदीदा नियोक्‍ता" की संस्‍कृति इंगित करता कर्मचारी नियोजन:

     

    "कर्मचारी-नियोजन" संबंधी हमारा दर्शन, कर्मचारियों को भावनात्‍मकता एवं व्‍यावसायिक दोनों प्रकार के संबंधों से बैंक को जोड़ना है. ऐसा करने से ही कर्मचारियों का सुयोजन हो सकेगा. एक तो वे अत्‍यधिक प्रेरित होकर अपने कार्य लक्ष्‍यों के प्रति उत्‍साहित रहेंगे तथा दूसरे बेहतरीन कार्य-निष्‍पादन प्रदर्शित कर वांछित लक्ष्‍यों की प्राप्ति करने में अपने संगठन की सहायता करेंगे. भारत भर में फैली हमारी 4300 से अधिक शाखाएं, कर्मचारियों को उनके गृह-स्‍थान के आस-पास कार्य करने का सुअवसर प्रदान करती हैं एवं पदोन्‍नति के उपरांत पदस्‍थापना में पसंदगी भी देती है. ये प्रयास इन उद्देश्‍यों को ध्‍यान में रख कर किए जा रहे हैं कि नौकरी की तलाश कर रहे अभ्‍यर्थियों के लिए हमारी संस्‍था, एक सर्वाधिक पसंदीदा संस्‍था बन सके.

     

    एन - व्‍यवसाय एवं लोगों - के प्रति गैर-पारंपरिक दृष्टिकोण:

    समय के साथ-साथ नव-परिवर्तनों के अनुरूप इसने अपने आपको ढाला है और यह इसकी संस्‍कृति में इस कदर समाहित हो चुका है कि यह संस्‍था को सतत प्रगतिशील बनाए रखता है. ग्राहकों को सेवा प्रदान करने के लिए उद्योग में श्रेष्‍ठ विशेषीकृत तकनीकी प्‍लेटफार्म से लेकर व्‍यावसायिक संवितरण के लिए अपनाई जानेवाली निर्देश चिन्हित प्रथाओं तक भारत में बैंकिंग प्रद्धति में प्रयुक्‍त हो रही पद्धति के परिवर्तनों में हम हमेशा अग्रणी रहे हैं. हमारे कर्मचारी भी अपने कौशल, ज्ञान एवं तौरतरीकों इत्‍यादि के मामलों में इनसे उपयुक्‍त ढंग से सुसंगत है.

    टी - टीम निर्माण में विश्‍वास :

    हमारे कर्मचारी वांछित परिणाम देने के प्रयासों में सिर्फ कठोर परिश्रम नहीं बल्कि व्‍यवस्थित तरीके से कार्य करने पर बल देते है. यह संपूर्ण टीम के संयुक्‍त प्रयास है, जो दरअसल किसी परियोजना की सफलता अथवा विफलता निर्धारित करते हैं. टीम निर्माण से कर्मचारियों के बीच तथा कर्मचारियों एवं उच्‍च प्रबंधतंत्र के बीच बेहतर एवं निर्भीक सम्‍प्रेषण विकसित करने में सहायता मिलती है. व्‍यावसायिक सम्‍बंध, समझ एवं सहयोग विकसित करने में काफ़ी समय लगता है, जो बैंक में निष्‍पादित कार्यों की गुणवत्‍ता में परिलक्षित होता है. अत: एक कार्पोरेट दर्शन के रूप में, हमारे बैंक ने सौहार्द्रपूर्ण सम्‍बंध एवं साहचर्य सुसंयोजित टीम के निर्माण पर बल दिया है. ताकि उनके साझा विजन एवं सामूहिक प्रयास से संस्‍था के लक्ष्‍यों को प्राप्‍त करने में सहायता मिल सकें.

    आर - कर्मचारी का सम्‍मान:

    कार्य-परिवेश में आदरभाव बढ़ाने के लिए नए सिरे से ध्‍यान केन्द्रित करना, हमारी एक कार्यनीति है ताकि कर्मचारी अपने आपको सम्‍मानित समझें. आदर-भाव का प्रदर्शन हम मौखिक एवं गैर-मौखिक सम्‍प्रेषणों, अपने व्‍यवहार, हमारे द्वारा व्‍यक्‍त की गई पसंद एवं उत्‍तरदायित्‍वों के प्रत्‍यायोजन से कर सकते हैं.

    हम अपने कनिष्‍ठों, समकक्ष व्‍यक्तियों, अधीनस्‍थों एवं वरिष्‍ठों के प्रति परम नैतिक व्‍यवहार अपनाने एवं ऐसे वातावरण परिपुष्‍ट करने में विश्‍वास रखते हैं, जिसमें प्रत्‍येक कर्मचारी से समान एवं निष्‍पक्ष बर्ताव किया जाय.

    ए - परिवर्तन का अभिकर्ता:

    हम उद्यमशील संस्‍कृति को अपनाने में विश्‍वास करते हैं, जो अनौपचारिक एवं वैयक्तिक नेटवर्क पर निर्भर करता है. आधु‍निक समर्थन पद्धतियाँ अपनाई गई है, जो हमारे बैंक के विभिन्‍न व्‍यावसायिक वर्टिकलों के बीच समन्‍वयता बढ़ाती हैं. यह हमारे कर्मचारियों को व्‍यावसायिक उलझनों के मध्‍य कार्य करने एवं ऐसे समाधान प्रस्‍तुत करने को प्रेरित करता है, जो विचारोत्‍तेजक तथा भविष्‍य में आने वाली समस्‍याओं का समाधान करने भी मदद करता है. हम अपने कार्यबल को "परिवर्तनकारी अभिकर्ता" एवं बैंक के ब्रैंड एम्‍बेसडर के रूप में रूपांतरित होने का उनमें जूनून उत्‍पन्‍न करते हैं, जो संस्‍था की स्‍पर्धात्‍मक अग्रता बनाए रखने में महत्‍वपूर्ण सहायक होता है.

(c) 2016 Central Bank of India. All rights reserved
आपकी आगंतुक संख्या हैं : 220485