CentralBank of India-MSME
Central Bank Logo

महिला उद्यमी कक्ष

दृष्टिकोण

  • महिलाओं की उद्यमी क्षमताओं का विकास कर उन्हें सशक्त बनाने में प्रमुख भूमिका के निर्वहन में प्रमुखता से उभरना. उनकी विशिष्ट ऋण आवश्यकताओं पर ध्यान देते हुए उन्हें बेहतरीन वित्तीय सेवाएं एवं श्रेष्ठ बैंकिंग संव्यवहार उपलब्ध कराना.

उद्देश्य

  • सरकार की प्राथमिकताओं के अनुरूप एमएसएमई, कृषि एवं रिटेल पर विशेष बल देते हुए महिला उद्यमियों की आर्थिक गतिविधियों के संचालन में सभी स्तरों पर सहायता करना.
  • एक पेशेवर के तौर पर उद्यम आरंभ करने के लिए महत्वाकांक्षी महिला उद्यमियों की पहचान करना, प्रोत्साहित करना तथा उनकी सहायता करना.
  • विद्यमान उद्यमियों को उनकी इकाई में विस्तार करने, उसका आधुनिकीकरण करने में मार्गदर्शन और सहायता करना.
  • अधिक से अधिक महिला उद्यमियों को बैंक की परिधि में लाने के लिए सरकारी/गैर सरकारी संगठनों/एसोसियेशनों से समन्वय स्थापित करना.

कार्यक्षेत्र

  • केन्द्र, राज्य, एवं तालुका स्तर पर, विशेष रूप से एमएसएमई विभाग एवं महिलाओं संबंधी विभागों के साथ सतत संपर्क बनाना.
  • व्यवसाय वित्तपोषण, विपणन कार्यनीतियों, प्रबंधन तकनीकों इत्यादि के क्षेत्र में उनका कौशल विकसित करने के लिए कार्यशाला/प्रशिक्षण सत्रों का आयोजन करना.
  • ऋण आवश्यकताओं, बाजार सर्वे एवं बाहरी क्रेडिट रेटिंग के अनुरूप उचित ऋण उत्पाद का चयन करते हुए प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार करने में उन्हें परामर्श प्रदान करना.
  • कॉलेज विद्यार्थियों के लिए “भावी उद्यम अवसरों” पर कैरियर मार्गदर्शन कार्यक्रमों तथा कार्यशालाओं का आयोजन करना.
  • व्यवसाय वृद्दि के लिए आवश्यक नेटवर्क तथा महिला उद्यमियों के बीच संपर्क संबद्धता विकसित करने लिए महिला उद्यमी डायरेक्टरी के लिए डाटाबेस तैयार करना.
  • महिला उद्यमियों को विपणन सहायता प्रदान करने हेतु उनके द्वारा विनिर्मित उत्पादों की प्रदर्शनी सह बिक्री की व्यवस्था करना.
  • स्वयं सहायता समूह जागरूकता कार्यक्रमों के आयोजन, स्वयं सहायता समूह के निर्माण में सहायता करना, ऋण संयोजन तथा प्रशिक्षणों का आयोजन एवं क्षेत्र विशेष से संबंधित आय अर्जन व्यवहार्य प्रोजेक्ट्स की पहचान करना.
  • स्वरोजगार सृजन के लिए महिला विशिष्ट ऋण उत्पाद तैयार करना.
  • महिला उद्यमियों को ऋण संवितरण संबंधी नीतिगत दिशानिर्देश तैयार करना.

संगठनात्मक ढांचा

  • अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के सुअवसर पर दिनांक 08 मार्च, 2013 को मुम्बई स्थित बैंक के कॉरपोरेट कार्यालय में महिला उद्यमी कक्ष की स्थापना की गई है जिसका उद्देश्य संभावी महिला उद्यमी को आय अर्जक गतिविधियों का चयन कर अपना स्वयं का उद्यम प्रारंभ करने में मदद करना है. वर्तमान में कॉरपोरेट कार्यालय, मुम्बई ने एक निगरानी कक्ष के साथ देशभर में बैंक के सभी आंचलिक कार्यालयों एवं क्षेत्रीय कार्यालयों में तिरानवे नोडल अधिकारी कार्यरत हैं.
  • कॉरपोरेट कार्यालय, मुम्बई में मुख्य महाप्रबंधक- एमएसएमई विभाग के पर्यवेक्षण एवं समग्र दिशानिर्देशन के अधीन महिला उद्यमी कक्ष की प्रमुख एक महिला उप महाप्रबंधक हैं.

महिला उद्यमियों के लिए योजनाएं

  • महिला उद्यमियों के लिए विशिष्ट योजना: सेन्ट-कल्याणी
  • महिला उद्यमियों के लिए अन्य योजनाएं: सेन्ट-आर्टीजन क्रेडिट कार्ड, सेन्ट-बिजिनस गोल्ड लोन, सेन्ट कंस्ट्रक्शन उपकरण वित्त, सेन्ट कॉन्ट्रेक्टर, सेन्ट डॉक्टर, सेन्ट फूड प्रोसेंसिंग प्लस, सेन्ट मॉर्गेज, सेन्ट मॉर्गेज (शैक्षिक संस्थानों), सेन्ट-प्रोफेशनल सेन्ट-प्रॉस्परिटी (अल्पसंख्यक समुदाय), सेन्ट-प्रोत्साहन, सेन्ट-सहयोग, सेन्ट ट्रेड, सेन्ट-वेयरहाउस रसीद योजना, सेन्ट-वीवर क्रेडिट कार्ड, सेन्ट-लघु उद्यमी क्रेडिट कार्ड, स्मॉल रोड ट्रांसपोर्ट ऑपरेटर

नोडल अधिकारी

  • कॉरपोरेट कार्यालय/नोडल कार्यालयों में महिला उद्यमी कक्ष की सेवाएं/सूचनाएं प्राप्त करने के लिए कृपया संपर्क विवरण पर क्लिक करें.

Page Under Construction

Page Under Construction

(c) 2016 Central Bank of India. All rights reserved
आपकी आगंतुक संख्या हैं : 220441