CentralBank of India-Rural Agri Banking
Central Bank Logo

सेन्ट वर्मी कॉम्पोस्ट योजना

उद्देश्य

* वर्मी कॉम्पोस्ट ईकाइयों को स्थापित करने एवं इनको चलाने के लिए कृषकों एवं/या कॉरपोरेटों की निवेश ऋण/कार्यशील पूंजी की आवश्यकता को पूरा करना.

पात्रता

* सभी कृषक, स्वयं सहायता समूह, काश्तकार सहित कृषकों के संयुक्त देयता समूह, बंटाईदार, स्वामी/भागीदारी फर्म/निजी/सार्वजनिक लि. कं. गैर सरकारी संस्थाएं (एनजीओ), सहकारिताएं, नगर निगम, संघ, कृषि उत्पन्न विपणन समितियां, विपणन बोर्ड एवं कृषि प्रसंस्करण निगम.

ऋण सुविधा की प्रकृति

* प्रयोजन के अनुसार सावधि ऋण एवं/या नकद साख.

ऋण सीमा

* मूल्यांकन पर आधारित, अधिकतम ` 2.00 करोड़.

मार्जिन

1,00,000/- तक के ऋण हेतु : निरंक
` 1,00,000/- से अधिक एवं ` 5,00,000/- तक के ऋण : 10%
` 5,00,000/- से अधिक ऋण सीमा हेतु : 20%

प्रतिभूति

* प्राथमिक :
- बैंक के वित्त से सृजित संपत्ति का द्दृष्टिबंधक.
* सम्पार्श्विक :
1,00,000/- तक की ऋण सीमा हेतु कोई संपार्श्विक प्रतिभूति नहीं
- 1,00,000/- से अधिक ऋण सीमा हेतु : संपत्ति पर साम्यिक बंधक/प्रभार.

ब्याज दर

* रु. 50,000/- तक
* रु.50,000/- से अधिक व रु. 5 लाख तक
* रु. 5 लाख से अधिक व रु. 10 लाख तकधिक
* 25 लाख से अधिक

आधार दर + 0.50%
आधार दर + 1.00%
आधार दर + 1.50%
बेस रेट + 2.00%

प्रसंस्करण प्रभार

* निरंक.

निरीक्षण प्रभार

रू. 2 लाख तक : निरंक
रू. 2 लाख से अधिक व रू. 5 लाख तक : रू. 200/-
रू. 5 लाख से अधिक व रू. 50 लाख तक : रू. 500/
रू. 50 लाख से अधिक : रू. 1000/-

चुकौती

* 5-8 वर्ष.

अतिरिक्त जानकारी के लिए कृपया हमारी नजदीकी शाखा से सम्पर्क करें.

पृष्ठ निर्माण के तहत

पृष्ठ निर्माण के तहत

(c) 2016 Central Bank of India. All rights reserved
आपकी आगंतुक संख्या हैं : 220480