CentralBank of India-Services
Central Bank Logo

म्यूच्युअल फंडस

म्यूचुअल फंड के बारे में

  1. किसी विशेष लक्ष्य की प्राप्ति हेतु म्यूचुअल फंड विभिन्न निवेशकों राशियां प्राप्त कर एक निधि पूल बनाता है और उससे विभिन्न प्रकार की प्रतिभूतियां खरीदता है. इस उद्वेश्य के लिए प्रतिभूतियों का चयन क्षेत्र विशेष के विशेषज्ञों के द्वारा किया जाता है. प्राप्त प्रतिफल निवेशकों के मध्य वितरित किया जाता है.
  2. म्यूचुअल फंड कंपनियां विभिन्न प्रकार की योजनाएं ऑफर करती हैं. निवेशक जोखिम के प्रति अपने बोध के आधार पर कोई भी विशेष निधि/योजना अथवा निधियों /योजना का मिश्रण चुन सकता है. विभिन्न योजनाओं के प्रचलित निवल आस्ति मूल्य के आधार पर निवेश किया जाता है.

विक्रित निधियों के प्रकार

  1. अपने निवेश लक्ष्य की प्राप्ति में आपके लिए उपयुक्त निधि के चयन में हम आपकी सहायता करते हैं. इसमें निम्नानुसार निधियां सम्मिलित हो सकती हैं:
    • डेट: तरल योजना, आय योजनाएं, जी-सेक योजनाएं, मासिक आय योजना इत्यादि.
    • इक्विटी: विविधिकृत इक्विटी योजनाएं, सेक्टर योजनाएं, सूचकांक योजनाएं इत्यादि.
    • मिश्रित निधियां: संतुलित योजनाएं, विशेष योजनाएं - पेंशन, बच्चों की शिक्षा योजाएं इत्यादि.
  2. सेन्ट्रल बैंक में, हमारे एएमएफआई (भारतीय पारस्परिक निधि संघ) प्रमाणित सलाहकार, आस्ति आबंटन कार्ययोजना के माध्यम से आपके पोर्टफोलियो के लिए सर्वाधिक उपयुक्त म्यूचुअल फंड योजना के चयन में आपकी सहायता करेंगे.
  3. सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया की चुनी हुर्इ शाखाओं के माध्यम से आप यूटीआई म्यूचुअल फंड, टाटा म्यूचुअल फंड ,फ्रेंकलिंन टेम्पलटन म्यूचुअल फंड, रिलायंस म्यूचुअल फंड, सुन्दरम म्यूचुअल फंड, कोटक महिन्द्रा म्यूचुअल फंड, आर्इसीआईसीआई प्रूडेंशियल म्यूचुअल फंड, डीएसपी ब्लैकरॉक म्यूचुअल फंड,आईडीएफसी म्यूचुअल फंड, एल एंड टी म्यूचुअल फंड एवं प्रिंसिपल पीएनबी म्यूचुअल फंड की विभिन्न योजनाओं में निवेश कर सकते हैं. इन सभी फंड हाउसेस के कार्यनिष्पादन का रिकॉर्ड बहुत अच्छा रहा है.
  4. म्यूचुअल फंड निवेश, बाजार के जोखिम के अधीन होता है

पृष्ठ निर्माण के तहत

पृष्ठ निर्माण के तहत

(c) 2016 Central Bank of India. All rights reserved
आपकी आगंतुक संख्या हैं : 220441