CentralBank of India-Rural Agri Banking
Central Bank Logo

सेन्ट किसान क्रेडिट कार्ड – (सीकेसीसी)

उद्वेश्य
  • फसल की खेती के लिए आवश्यक अल्पावधि ऋण की पूर्ति.
  • कटाई पश्चात के व्यय एवं उत्पाद विपणन ऋणों के लिए.
  • किसानों के उपभोग आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए.
  • कृषि उपकरणों एवं अन्य आस्तियों के रखरखाव एवं कृषि संबंद्ध अन्य गतिविधियों जैसे डेयरी, मछली पालन इत्यादि के लिए आवश्यक कार्यशील पूंजी की पूर्ति के लिए.
पात्रता
  • सभी किसान - वैयक्तिक/संयुक्त उधारकर्ता जो भूस्वामी खेतिहर, काश्तकार किसान,पट्टेदार,मौखिक पट्टेदार, शेयर बटाईदार एवं स्वयं सहायता समूह अथवा किसानों का संयुक्त देयता समूह.
ऋण सुविधा की प्रकृति
  • अल्पावधि परिक्रामी उधार
मार्जिन
  • निरंक क्योंकि यह वित्त पैमाने में संनिहित है.
प्रतिभूति
  • प्राथमिक -
- फसल एवं बैंक वित्त से सृजित आस्तियों का दृष्टिबंधक.
  • संपार्श्विक-
- रू. एक लाख तक कोई संपार्श्विक नहीं .
- रू. एक लाख से अधिक के लिए संपार्श्विक प्रतिभूति आवश्यक है.
ब्याज दर

रु.50,000/- तक की ऋण सीमा
रु.50,000/- से अधिक - रु.5 लाख तक
रु.5.00 लाख से अधिक - रु.25.00 लाख तक
रु.25.00 लाख से अधिक

बेस दर + 0.50%
बेस दर + 1.00%
बेस दर + 1.50%
बेस दर + 2.00%

प्रक्रिया प्रभार
  • निरंक
प्रलेखीकरण प्रभार
  • निरंक
चुकौती
  • प्रत्याशित फसल एवं फसल के विपणन के अनुसार .
  • वार्षिक समीक्षा के अधीन ऋण सीमा 5 वर्ष के लिए मान्य होगी.
अधिक जानकारी के लिए कृपया हमारी निकटतम शाखा से संपर्क करें.
पृष्ठ निर्माण के तहत
पृष्ठ निर्माण के तहत
(c) 2016 Central Bank of India. All rights reserved
आपकी आगंतुक संख्या हैं : 220477